शिमला की दो लेडी कॉन्स्टेबल ने ड्यूटी के दौरान मिसाल पेश की है। चंडीगढ़-मनाली हाईवे पर बस हादसे में घायल होने के बावजूद

दोनों अपने साथ उस महिला कैदी को भी अस्पताल ले जाने पर अड़ गईं,

जिसे लेकर वह धर्मशाला से लौट रहीं थीं। बाद में दोनों कॉन्स्टेबल को महिला कैदी के साथ अस्पताल पहुंचाया गया।

ड्यूटी के लिए ऐसे जुनून के कारण दोनों कॉन्स्टेबल अब चर्चा में है।

रेस्क्यू टीम और स्थानीय लोगों ने वर्दीधारी लेडी-कॉन्स्टेबल को एंबुलेंस से अस्पताल पहुंचाने में वरीयता दी।

दोनों कॉन्स्टेबल महिला कैदी के बगैर अस्पताल जाने को तैयार नहीं हुई। बाद में शीतल और अंजू महिला कैदी को साथ लेकर अस्पताल पहुंचीं।

हिमाचल पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू ने दोनों कॉन्स्टेबल के समर्पण भाव की सराहना की

साथ ही दोनों को 500-500 रुपए का नगद पुरस्कार देकर प्रोत्साहित भी किया