Sahara India: सहारा इंड‍िया में फंसे हैं पैसे? आपके लिए एक बड़ी खुशखबरी है?

अगर सहरा इंडिया (Sahara India) में आपके पैसे फंसे हैं तो आपके लिए एक बड़ी खुशखबरी है. जल्द ही आपके पैसे आपको वापस मिल जाएंगे

आपको बता दें कि सहरा इंडिया में फंसे निवेशकों के पैसे निकालने के लिए सरकार ने एक बड़ा कदम उठाया है.

आपको बता दें कि सहरा इंडिया में फंसे निवेशकों के पैसे निकालने के लिए सरकार ने एक बड़ा कदम उठाया है.

झारखंड सरकार ( Jharkhand Government )  ने इस मामले पर बड़ी कार्रवाई करते हुए झारखंड सरकार के वित्त विभाग एक हेल्पलाइन नंबर लॉन्च किया है.

झारखंड सरकार ( Jharkhand Government )  ने इस मामले पर बड़ी कार्रवाई करते हुए झारखंड सरकार के वित्त विभाग एक हेल्पलाइन नंबर लॉन्च किया है.

इससे उन लोगों को बहुत बड़ी मदद मिलेगी जिनके पैसे सहारा इंडिया में फंसे है

इससे उन लोगों को बहुत बड़ी मदद मिलेगी जिनके पैसे सहारा इंडिया में फंसे है

एक्शन में आई सरकार दरअसल, झारखंड सरकार के वित्त विभाग ने नॉन बैंकिंग कंपनियों और कॉर्पोरेटिव सोसाइटी के खिलाफ एक्शन में आ गई है.

एक्शन में आई सरकार दरअसल, झारखंड सरकार के वित्त विभाग ने नॉन बैंकिंग कंपनियों और कॉर्पोरेटिव सोसाइटी के खिलाफ एक्शन में आ गई है.

सरकार ने इनके विरुद्ध शिकायत दर्ज करवाने के लिए एक पुलिस हेल्प लाइन नंबर 112 जारी किया है. इसके तहत सहारा इंडिया परिवार में फंसे पैसे के लिए भी शिकायत दर्ज कराई जा सकती है.

सरकार ने इनके विरुद्ध शिकायत दर्ज करवाने के लिए एक पुलिस हेल्प लाइन नंबर 112 जारी किया है. इसके तहत सहारा इंडिया परिवार में फंसे पैसे के लिए भी शिकायत दर्ज कराई जा सकती है.

इसके बाद वित्त विभाग सीआईडी (आर्थिक अपराध शाखा, झारखंड) के साथ मिलकर इस शिकायत की जांच करेगा

81.70 करोड़ से जुड़े 19,644 आवेदन म‍िले वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी ने अपने बयान में बताया था क‍ि सेबी (SEBI) को 81.70 करोड़ के लिए 53,642 ओरिजिनल बॉन्ड सर्टिफिकेट / पास बुक से जुड़े 19,644 आवेदन म‍िले हैं.

उन्‍होंने यह भी बताया था क‍ि बाकी आवेदन का SIRECL और SHICL द्वारा उपलब्ध कराए गए दस्तावेजों में रिकॉर्ड ट्रेस नहीं हो पा रहा.

उनकी तरफ से जानकारी द‍िए जाने के बाद न‍िवेशकों की उम्‍मीदें बढ़ गई थीं.

सहारा ने लेटर में ल‍िखा, हम भी सेबी से पीड़‍ित अप्रैल महीने में सहारा (Sahara) ने सेबी (SEBI) पर निवेशकों के 25,000 करोड़ रुपये रखने का आरोप लगाया था.

इससे पहले भी सहारा की तरफ से यह बात कई बार कही जा चुकी है.

सहारा की तरफ से जारी लेटर में ल‍िखा क‍ि वह (सहारा) भी सेबी से पीड़ित है. हमसे दौड़ने के ल‍िए कहा जाता है लेक‍िन हमें बेड़ियों में जकड़कर रखा गया है.

न‍िवेशकों की रकम नहीं लौटा पाने पर रेग्‍युलेटरी स‍िक्‍योर‍िटी एंड एक्‍सचेंज बोर्ड ऑफ इंड‍िया (SEBI) की तरफ से बताया गया था क‍ि र‍िकॉर्ड में निवेशकों का डाटा ट्रेस नहीं हो पा रहा है.

न‍िवेशकों की रकम नहीं लौटा पाने पर रेग्‍युलेटरी स‍िक्‍योर‍िटी एंड एक्‍सचेंज बोर्ड ऑफ इंड‍िया (SEBI) की तरफ से बताया गया था क‍ि र‍िकॉर्ड में निवेशकों का डाटा ट्रेस नहीं हो पा रहा है.