UP LEKHPAL BHARTI: यूपी लेखपाल भर्ती का एग्जाम क्या अब 19 जून को इस वजह से एग्जाम नही होगा बड़ी खबर

UP LEKHPAL BHARTI: यूपी लेखपाल भर्ती का एग्जाम क्या अब 19 जून को इस वजह से एग्जाम नही होगा बड़ी खबर

उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग से आयोजित होने वाली लेखपाल भर्ती परीक्षा जो कि 19 जून को प्रस्तावित है क्या इस तारीख को एग्जाम पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं?

आखिर पूरी तरह से जानकारी क्या है? आइए आगे आपको इस पोस्ट के माध्यम से बताते हैं। और आप इस पोस्ट नीचे जितने भी हमारे सोशल मीडिया के लिंक हैं सभी को फॉलो जरूर कर लेना ताकि आप हम से डायरेक्ट कनेक्ट रहें।

लेखपाल एग्जाम 19 जून को होगा या नहीं इस पर संशय बरकरार है | भले ही आयोग की तरफ से इसकी डेट जारी कर दी गई हो|

लेकिन अभ्यार्थियों में एक बड़ी चिंता का विषय है, बता दें कि पेट कटऑफ को लेकर अभ्यर्थी इस समय प्रदर्शन कर रहे हैं और इसका मामला कोर्ट भी जा चुका है |

और आज कुछ अभ्यर्थी माननीय मुख्यमंत्री महोदय से जी से भी मिलने वाले हैं| और पेट कट आफ को कम करने के लिए ज्ञापन भी देने वाले हैं| तो ऐसे में अगर अभ्यार्थी कोर्ट गए हैं

अगर कोर्ट से स्टे हुआ तो लेखपाल भर्ती का एग्जाम 19 जून के आगे भी जा सकता है|

लेकिन अभी सिर्फ यह संभावना है बाकी जिन अभ्यर्थियों का नाम आ चुका है पेट कट ऑफ को वह क्रॉस कर चुके हैं जितना कट आफ गया हैं लेखपाल भर्ती के लिए आप अपनी तैयारी करते रहिए|

लेखपाल भर्ती क्या है विवाद?

उत्तर प्रदेश लेखपाल भर्ती के लिए पेट कटऑफ 5 मई को आयोग के द्वारा जारी किया गया था| जिसमें 13 लाख 90 हजार कुल अभ्यर्थियों के आवेदन थे लेकिन इसमें से 247000 अभ्यर्थियों को ही मेंस एग्जाम में लिया गया|

बाकी बचे 1100000 अभ्यर्थियों पेट कट आफ को कम करने के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं|

बता दें कि 8 मई को ट्विटर अभियान चलाया गया जो कि पहले नंबर पर ट्रेंड किया था और इसके बाद 9 मई को आयोग के सामने धरना प्रदर्शन किया गया और अभ्यार्थियों ने मांग रखी कि पेट कटऑफ कम किया जाए

ताकि अधिक से अधिक युवाओं को मौका मिल सके क्योंकि यह भर्ती काफी लंबे समय बाद आई है ऐसे में सभी अधिकतर युवाओं को मौका मिलना चाहिए|

UPSSSC आयोग के सचिव ने क्या कहा?

बता दे उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के सचिव अब नए आ चुके हैं जिनका नाम है अविनाश सक्सेना अभ्यार्थी इन से मुलाकात किए और अभ्यर्थियों ने इन्हें ज्ञापन भी दिया| यह सचिव जी के द्वारा कहा गया कि

हम अगली मीटिंग में आपकी बातों को रखेंगे एक तरह से अभ्यर्थियों को आश्वासन मिला है लेकिन अभ्यर्थियों को लग रहा है कि आयोग अब कुछ नहीं करने वाला है |