इन महिलाओं की बंद होगी Vidhwa Pension, सरकार ने जारी किया अलर्ट

पेंशन पात्रों को परिवार की पहचान से जोड़ने की बात की जाए तो जिले में विधवा एवं निराश्रित पेंशन (Widow and destitute pension) लेने वाली 919 महिलाओं की पेंशन पिछले कई माह से रोकी गई है

क्योंकि उनके परिवार के पहचान पत्र में पति दिखाया जा रहा है।

अब इन महिलाओं के घर जाकर विभाग के अधिकारी इस बात की जांच करने जा रहे हैं कि ये महिलाएं वास्तव में विधवा हैं या बेसहारा या फर्जी तरीके से पेंशन बनवाने (Pension Yojana) का काम कर रही हैं।

सरकार ने इन महिलाओं की Pension को रोका

जिन 919 महिलाओं की पेंशन रोक दी गई है उनमें से 848 विधवाओं और 71 महिलाओं को बेसहारा होने के कारण पेंशन मिल रही थी।

इसके अलावा परिवार की आय 2 लाख से अधिक होने पर 60 वर्ष से अधिक आयु के 5436 पात्रों की पेंशन भी रोक दी गई है।

जानकारी के अनुसार जिन पात्रों के परिवार के पहचान पत्र में आय अधिक होने के कारण उनकी पेंशन रुकी हुई है

उन्हें अपनी पारिवारिक आईडी (family id) में अपनी आय को अद्यतन करना आवश्यक है।

परिवार आईडी में आय 2 लाख से कम होने पर विभाग स्वतः ही उनकी पेंशन (Pension Yojana) शुरू कर देता है। इसके अलावा जितने महीनों के लिए पेंशन रोकी गई वह भी एक साथ जारी करने का काम है।

जानकारी के मुताबिक सरकार द्वारा पेंशन को परिवार पहचान पत्र से जोड़ने के बाद अब 60 साल की उम्र के साथ कहीं भी वृद्धावस्था पेंशन योजना (Old age Pension Scheme) के लिए आवेदन करने की जरूरत नहीं है।

जैसे ही कोई बुजुर्ग पेंशन लेने का पात्र बनता है। उसकी पेंशन अपने आप शुरू हो जाती है जिससे बुजुर्गों को घर बैठे ही योजना का लाभ मिल जाता है।